जांजगीर में मॉब लिंचिंग की संभवतः पहली घटना के बाद पुलिस हरकत में आई;
पुलिस ने अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है;
बीते 06 मई को हुई स्कॉर्पियो और मोटरसाइकिल के बीच हुई सड़क दुर्घटना के बाद भीड़ द्वारा पीट-पीटकर आरोपी स्कॉर्पियो वाहन चालक की हत्या की गई

मॉब लिंचिंग बिर्रा जांजगीर - भीड़ ने पीट-पीटकर मारा वीडियो 1

घटना के दौरान वहा मौजूद कुछ लोगों ने मॉब लिंचिंग की इस घटना का वीडियो भी बनाया

जांजगीर, 12 मई 2019। छ्तीसगढ़ में भी अब मॉब लिंचिंग के अपराध घटित हो रहे हैं। जांजगीर में मॉब लिंचिंग की संभवतः पहली घटना के बाद पुलिस हरकत में आ गई है।   जांजगीर जिले के बिर्रा पुलिस थाने के अंतर्गत सेमरिया मोड़ के पास बीते 06 मई को हुई स्कॉर्पियो और मोटरसाइकिल के बीच हुई सड़क दुर्घटना के बाद भीड़ द्वारा पीट-पीटकर आरोपी स्कॉर्पियो वाहन चालक की हत्या के मामले में पुलिस ने अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।  इस सड़क दुर्घटना में बलौदाबाजार निवासी स्कॉर्पियो वाहन चालक प्रकाश भारती ने मोटरसाइकिल सवार चार लोगों के अलावा सड़क किनारे बैठे एक शख्स को भी ठोकर मार दी थी, जिसमें घटनास्थल पर 02 लोगों की मृत्यु हो गई थी, जबकि 03 लोग घायल हो गये थे। इस सड़क दुर्घटना के बाद वहां मौजूद भीड़ ने आरोपी स्कॉर्पियो वाहन चालक प्रकाश भारती को दौड़ा-दौड़ा कर हाथ, लात, बेल्ट, डंडा और पत्थर से  बेरहमी से पीट - पीट कर अधमरा कर दिया। पुलिस ने बड़ी मशक्कत कर प्रकाश भारती को भीड़ से छुड़ा कर अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।  जिसकी अस्पताल  उसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। घटना के दौरान वहा मौजूद कुछ  लोगों ने मॉब लिंचिंग की इस घटना का वीडियो भी बनाया ।

             इस घटना की खबर लगते ही इलाके की बिर्रा पुलिस भी घटनास्थल पहुंचर  लोगों को शांत करने की कोशिश की, लेकिन उपद्रवी भीड़ ने सड़क दुर्घटना के मृतकों को मुआवजा देने की मांग करते हुए पुलिस के साथ भी झूमा झटकी करते हुए सड़क जाम कर दिया था। इस घटना पर बिर्रा पुलिस थाने में आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 294,323, 506 (बी), 427, 186, 332,353, 302 भादवि अपराध कायम कर आरोपियों की धरपकड़ के लिए एसडीओपी डभरा साधना सिंह केननेतृत्व में विभिन्न टीम गठित की गई। पुलिस ने घटनास्थल पर मृतक स्कॉर्पियो वाहन चालक प्रकाश भारती के साथ मारपीट के वीडियो, ऑडियो, फोटो , गवाहों के बयान और मुखबिरोंकी सूचना के आधार पर आरोपियों की पहचान की और प्रदेश के अलग-अगल जगह के अलावा उड़ीसा में छिपे आरोपियों की धरपकड़ के लिये टीम रवाना की गई।  इस मामले में पुलिस ने 12 मई तक 13 आरोपियों की गिरफ्तार कर चुकी है, वहीं अब भी उपद्रवी भीड़ में मौजूद अन्य आरोपियों की पहचना कर तलाश जारी है। 


मॉब लिंचिंग बिर्रा जांजगीर - भीड़ ने पीट-पीटकर मारा वीडियो 2

जांजगीर की एएसपी मधुलिका सिंह और एसडीओपी डभरा साधना सिंह ने कम्युनिटी पुलिसिंग प्रोग्राम के तहत ऐसे अपराधों को रोकने की बनाई योजना

                    जांजगीर जिले में सड़क दुर्घटना के बाद वहां मौजूद लोगों द्वारा आरोपी वाहन चालक के साथ मारपीट और उसकी गाड़ी में तोड़फोड़ करने का मामला आये दिन सुनाई देता रहता है। लेकिन उपद्रवी भीड़ द्वारा मॉब लिंचिंग का संभवतः  पहला मामला सामने आने के बाद पुलिस अब इसके खिलाफ न सिर्फ सख्त कार्रवाई करने बल्कि भविष्य में ऐसी घटना रोकने के लिए कारगर कदम उठाने के लिए सक्रिय हो गई है। जांजगीर की महिला पुलिस अधिकारियों की टीम जिसमें वर्तमान में कार्यवाहक एसपी और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह और एसडीओपी डभरा साधना सिंह का कहना है कि वह छत्तीसगढ़ की शांत आबोहवा को बिगड़ने नहीं देंगी। ऐसे मामलों में पुलिस न सिर्फ उपद्रवी भीड़ में मौजूद लोगों के खिलाफ न सिर्फ कड़ी कार्रवाही करेगी, बल्कि ऐसी विपरीत स्थिति उत्पन्न होने में लोगों द्वारा कानून व्यवस्था कायम रखने और भीड़ को नियंत्रित करने के बारे में गांव-गांव में डीजीपी डी एम अवस्थी द्वारा कम्युनिटी पुलिसिंग प्रोग्राम के तहत पुलिस जागरुकता अभियान चलाकर जनता के साथ नियमित समन्वय भी कायम करेगी। 


You may also like

Facebook Conversations