सूरजपुर कलक्टर की अध्यक्षता में गन्ना आरक्षित क्षेत्र में अवैध रूप से संचालित खांडसारी उद्योग पर कार्यवाही करने हेतु सूरजपुर, सरगुजा व बलरामपुर द्वारा उडऩदस्ता टीम गठित कर प्रतिबंध लगाने एवं विधिनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

केरता03 जनवरी !  सूरजपुर कलक्टर की अध्यक्षता में गन्ना आरक्षित क्षेत्र में अवैध रूप से संचालित खांडसारी उद्योग पर कार्यवाही करने हेतु सूरजपुर, सरगुजा व बलरामपुर द्वारा उडऩदस्ता टीम गठित कर प्रतिबंध लगाने एवं विधिनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना के गन्ना पेराई सीजन 2018-19 की समीक्षा की गई। गन्ना पेराई हेतु 15 विकासखण्डों के गन्ना रकबा 8685.683 हेक्टेयर भूमि को आरक्षित किया गया। आरक्षित भूमि के आधार पर गन्ना पेराई का लक्ष्य 2 लाख 50 हजार मीट्रिक टन रखा गया है।

बैठक में कलक्टर ने कारखाना प्रबंधन पर पेराई क्षमता से अधिक गन्ना लेनेे पर नाराजगी व्यक्त की। वहीं उन्होंने कहा कि जो किसान पर्ची लेने के 5 दिन बाद गन्ना की आपूर्ति करता है तो उसका भुगतान रोका जाएगा।

पर्ची की निर्धारित तिथि के 5 दिन से ज्यादा विलंब से गन्ना आपूर्ति करने पर गन्ना मूल्य राशि भुगतान रोककर विलंब से भुगतान करने, ऐसे कृषकों को बाद में आपूर्ति पर्ची देने तथा पंजीयन निरस्त करने का नोटिस जारी किये जाने का निर्देश दिये गये हैं। कारखाना के केनवार्ड की व्यवस्था में सुधार कर गन्ना आपूर्ति के निर्धारित तिथि में गन्ना आपूर्ति करने वाले कृषकों को पहले प्राथमिकता दी जाएगी।

। 


You may also like

Facebook Conversations